rekhasahay.com
लोग
एक नरम मुलायम धूप हौले हौले चलती कांच के दरवाजे से गुजर कर पैरों तक आ गई. गुनगुनी सी धूप सर्द मौसम में नरम रजाई सी तलवों को ढक कर सुकून देने लगी . कुछ ही देर में धूप की तेज़ होती गरमाहट चुभने लगी ।…