rekhasahay.com
इत्तेफ़ाक
टूटे, बिखरे , जुटे ! यह महज़ समय का खेल नहीं. संयोग या इत्तेफ़ाक नहीं. ज़िंदगी ने बड़ी मेहनत-मशक़्क़त की है, ज़िंदगी को यहाँ तक लाने में.…