randomwithlife.com
एक ऐसा भी था बचपन!!
एक दिन वो मासूम सा रात कुछ याद आ गया, वो फलक तक चाँद को देखना और मुस्कुराना! वो सीढ़ियों पे दोस्तों से बैठकर बातें करना, और छत से लगे वृक्ष से मीठे अमरुद तोड़ना!! वो पतंगों से भरा आसमान और धागे पे चढ़…