quietlyglow.wordpress.com
मन भर कर इठला भी ना पाई 
बारिश और वाे भी घनी रात में, एक अलग ही रंग हाेता है तब! पर क्या करते! बातें बहुत थी करने काे, कम्बख्त आखिर माैके पर उसका माेबाइल बैलेंस लाे हाे गया और मेरा माेबाइल बैटरी बैकअप फ्लाप हाे गया ! बीच म…