prabeenpati.com
Prabeen Pati : Words of Prabeen not just pressed, but that touch and impress! : Unnao
उन्नाव: “वो नाव जिसको ना किनारा मिला।कुछ दुष्ट उन्हें डुबाते रहे,असहाय बचाओ बचाओ कहती और कहते रहें,चिल्लाती और चिल्लाते रहें,गुहार की,पर ना किसी काम की!ना कोई सहारा मिला!जो हो ना था तो बहुत ह…