oshtimes.com
मौजूदा सत्ता के बूट (जूते) भारतीय संविधान से भी मजबूत » oshtimes
भाजपा के बजाय किसी अन्य दल के विधायक-सांसद होते तो सत्ता ने ईट से ईट बजा दी होती। इसलिए मौजूदा वक़्त में सत्ता के बूट संविधान से भी मजबूत है।