oshtimes.com
अर्थव्यवस्था की बिगड़ती हालत और जीडीपी की विकास दर में गिरावट
2016 की शुरुआत से ही अर्थव्यवस्था में ज़बरदस्त तेज़ी के प्रचार के नाटक से पर्दा उठाने लगा था और इसकी वास्तविक कमजोरी सामने आने लगी थी।