namiwise.wordpress.com
तू..
मेरे मर्ज़ की है यही दवा एक तू.. न निराश होऊ साथ है ‘गर तू.. न हताश होऊ है हाथ थामे ‘गर तू.. हर गम सह जाऊँ है सामने ‘गर तू.. मेरे हर मर्ज़ की है सिर्फ और सिर्फ दवा एक तू.. -अ’…