madhureo.com
yaaden - Madhusudan Singh
Image Credit :Google जिंदगी में कुछ खुशियाँ है तो आपके दम पर, अगर गम है वो कम है बस आपके दम पर, जिंदगी गमों का दरिया है या सैलाब है खुशियों का, बहार है बसंती या वीरानी है पतझड़ सा, कुछ भी है ओ सब है,बस आपके दम पर, अगर गम है वो कम है …