madhureo.com
PITA KAA MOL - Madhusudan Singh
दुःख नहीं देखा जिसने वो,सुख की कीमत क्या जाने, धुप में जलते पावँ नहीं वो छावँ की कीमत क्या जाने, क्या जाने माँ-बाप की कीमत, जिनके किश्मत में रब हैं, सिर पर बाप का हाथ नहीं वो कीमत उनका पहचाने। वैसे तो कई रिश्ते हैं अपने सारे संसार में, मगर बाप के रिश्ते का कोई …