madhureo.com
NAYEE DUNIYAN/नई दुनियाँ - Madhusudan Singh
Image Credit : Google ना सोचे,ना समझे हवा सा बहे हम, मुहब्बत की राहों में यूँ चल पड़े हम। तुम्हें जब से देखा,तुम्हें सोचते हैं, पलक बंद में भी तुम्हें देखते हैं, तुम्हारी ही यादों में रहने लगे हम, मुहब्बत की राहों में यूँ चल पड़े हम। जमाने मे कलतक जशन जीत में थी, कभी …