madhureo.com
MAA/माँ - Madhusudan Singh
Image Credit : Google जब संकट कोई आता है,जब दर्द कोई तड़पाता है, अश्कों के रिसने से पहले एक चीख निकल सा जाता है। उस चीख में रब का नाम नहीं,हैं देव मुझे इनकार नहीं, चुभ जाते काँटे,कील,जुबाँ,आते अल्लाह,भगवान नही, बस केवल मैया, माँ, मम्मी रे नाम जुबाँ पर आता है, अश्कों के रिसने से …