madhureo.com
Kyun Yaad Aten hain - Madhusudan Singh
Image credit: Google जो रिश्ते अपने तोड़ गए, तोड़े सपने,जज्बात बहुत क्यों याद आतें हैं, जो अपना कह मुंह मोड़ गए, है नहीं जिन्हें कुछ याद, वही क्यूँ दिल भाते हैं।।1 जब पास नहीं वे थी हलचल, चहुंओर था एक बवंडर, जब छोड़ गए तब भी हलचल, है हरपल एक बवंडर, हैं फँसे बीच …