madhureo.com
JAI MATA DI - Madhusudan Singh
Image Credit : Google हर पल तूँ है पास हमारे, तुमसे ही माँ आस हमारे। पर्वत पर तुम रहनेवाली, हर संकट को हरनेवाली, देव भी गाते महिमा तेरी, तेरी महिमा अजब निराली, कहाँ नहीं माँ तूँ रहती है, हर जीवों में तूँ बसती है, मेरे दिल में भी रहती माँ, फिर भी प्यासे नयन हमारे, …