madhureo.com
HAUSLA/हौसला - Madhusudan Singh
मुसाफिर हम सभी बाधा को हँसकर लाँघ जाएंगे, अगर है दूर मंजिल तो उसे हम पास लाएंगे, सुलगती लव जिगर में हम उसे अंगार कर देंगे, दफन अरमान दिल में जो उसे तूफान कर देंगे, जमाना देखना ख्वाहिश-हकीकत हम बनाएंगे, नजर में जो बसा चाहे कहीं भी खींच लाएंगे, भरा है जोश से यौवन नजर …