madhureo.com
Happy Holi - Madhusudan Singh
“Image Credit :Google “गालों से ज्यादा हथेली ये लाल है, होली में कितनों का ऐसा ही हाल है, दिल क्या करे बेबसी उसकी कैसी, हँसते नयन फिर भी दिल में मलाल है, कहीं पर गाल है कहीं पर गुलाल है। नाचे है मनवा ख़ुशी चहुओर, रंगों से कोई हुआ सराबोर, किसी के झरोखे पर कोरा …