madhureo.com
CHOWKIDAR/चौकीदार - Madhusudan Singh
Image Credit : Google अचरज में संसार पड़ा है,तत्तपर चौकीदार जी, दुश्मन सीमा पार डरा है,तत्तपर चौकीदार जी, दहशत में गद्दार पड़ा है,तत्तपर चौकीदार जी, चोरों का सरदार डरा है,तत्तपर चौकीदार जी। दौड़-दौड़ कर शोर मचाते, सब चोरों को साथ मिलाते, मूर्ख समझकर जन-जन में वो, चौकीदार को चोर बताते, मुश्किल है हमको फुसलाना,हम हैं …