madhureo.com
BESHARM SIYASAT/बेशर्म सियासत - Madhusudan Singh
Image Credit : Google हृदयहीन,बेशर्म सियासत, अमर्यादित जंग सियासत, बिगड़े सबके बोल अलंकृत-शब्दों से है तंग सियासत। प्रजातन्त्र से प्रजा गायब, मर्यादा का पर्दा गायब, राजनीति की हालत देखा, नीति,नियत,नियंता गायब, हम टुकड़ों में देश बंटा है, कहने को संग एक खड़ा है, रण जारी और मौन तख़्त है, निर्लज्ज नेता लफ्ज,तल्ख है, लोकतंत्र का …