madhureo.com
AARZU/ आरजू - Madhusudan Singh
Image Credit : Google Hamne apne ek priye lekhika Yasmin ji ki ek kavita padhi aur kuchh shabd panktiyan ban gaye:— है आरजू ये मेरी इनकार मत करना, ऐ दिल भूल से फिर प्यार मत करना। माना कि जन्नत है प्रेम की नगर में, बचना बड़े धोखे हैं प्रेम की डगर में, मीठी मीठी बातों …