madhureo.com
हिंदी हमारी जान - Madhusudan Singh
हिंदुस्तान में रहते खुद को गर्व से कहते हिन्दुस्तानी, हिंदुस्तान में रहकर कैसे,गौरवान्वित है इंग्लिश वाणी। कदम-कदम पर खान-पान, हर कदम अलग सा भाषा है, रंग बिरंगे उत्सव का संगम, भारत कहलाता है, उन्नीस सौ उन्चास में फिर भी, हिंदी को सम्मान मिला, संबिधान भारत का इसको, राष्ट्रभाषा स्वीकार किया, फिर हम उन्नीस सौ तिरपन …