madhureo.com
औरत /Women - Madhusudan Singh
Image Credit :Google औरत तेरी यही कहानी, प्रेम का दरिया दिल है,आँखों में है दर्द का पानी, औरत तेरी यही कहानी । बिटिया,बहन,बहु भी तू है, आँगन की शोभा भी तू है, वात्सल्य की अविरल धारा,जग-जननी जगदम्बा तूँ है, तुमसे काशी,काबा तुमसे, गिरिजाघर, गुरुद्वारा तुमसे, अल्लाह,ईश्वर,गॉड का जिसने,ज्ञान दिया ओ जन्मा तुमसे, तेरे ही आँचल …