literatureinindia.com
रहें सलामत वतन हमारा, वतन का ही नाम हो
रहें सलामत वतन हमारा, वतन का ही नाम हो रहें ज़िन्दा वतन के लिए, वतन के लिए ही खाक हो रहें सलामत वतन हमारा, वतन का ही नाम हो करें मुहब्बत सभी से, मुहब्बत के हम शैदाई हो करें उल्फ़त सदा वतन से, ना हमार…