kuchdiaryse.com
मिलने की तारीख…
उनके ज़हन को बेचैनी का ख्याल दे, ऐ दिल, उनसे मिलने की तारीख एक दिन और टाल दे। चलते रहने दे इशारों के ये सिलसिले यूँ ही, कुछ और रातें उन्हें सौगात-ए-बेहाल दे। आजकल मिलते भी हैं तो कुछ कहते नहीं, मेरे…