kuchdiaryse.com
आहिस्ता चल…
ए दिल, इतनी भी क्या जल्दी पड़ी है, आहिस्ता चल, उम्र काटने को सारी उम्र पड़ी है, आहिस्ता चल। यूं तो इल्म है मुझे उसके इरादों का, ज़िन्दगी खंजर लिए आगे खड़ी है, आहिस्ता चल। सामने अनजाने, पीछे अध-सुलझे सव…