kractivist.wordpress.com
” Aao Kasab Ko Phansi Dain ” -a poem by Anshu Malviya
उसे चौराहे पर फाँसी दें ! बल्कि उसे उस चौराहे पर फाँसी दें जिस पर फ्लड लाईट लगाकर विधर्मी औरतों से बलात्कार किया गया गाजे-बाजे के साथ कैमरे और करतबों के साथ लोकतंत्र की जय बोलते हुए उसे उस पेड़ की …