kractivist.org
प्रेम या हिंसा ? - Kractivist.org
एक घाव एक चुम्बन एक अहसास एक आलिंगन एक स्मृति एक चिंतन एक अनुभूति एक मंथन प्रेम की अगर यह परिभाषा है हिंसा की है इसमें गंध वह धीमी सी मुस्कान तुम्हारे चेहरे पे बता रही है नयनों में एक रुका हुआ आंसू आंसुओं मैं तड़पती हैं आहें आहों में मचलता है दिल, दिल में उठता है एक ज्वालामुखी जलते... Continue Reading →