kmsraj51.wordpress.com
हंसने पर फ़साना बना देती है।
Kmsraj51 की कलम से….. ϒ हंसने पर फ़साना बना देती है। ϒ दुनिया बड़ी शातिर है। जिनको अच्छा नही लगता… हँसना किसी का – हँसने पर फँसाना बना देती है॥ रोने पर ख़ुशियाँ मना लेती है। कया करे रहन…