kmsraj51.com
इंतजार करते-करते। ⋆ KMSRAJ51-Always Positive Thinker
Kmsraj51 की कलम से….. ϒ इंतजार करते-करते। ϒ इंतजार करते करते वक्त… क्यों गुज़रता नहीं। सब कुछ है यहाँ मगर… कोई अपना नही। जिसे भी अपना समझो… वो मीठा बोल-बोल कर। अपना मतलब निकाल कर… धोखा देकर निकल जाता है॥ ©- विमल गांधी ∇ हम दिल से आभारी हैं विमल गांधी जी के प्रेरणादायक हिन्दी कविता साझा करने के लिए। …