kmsraj51.com
वो तन्हाई किस काम की। ⋆ KMSRAJ51-Always Positive Thinker
Kmsraj51 की कलम से….. ϒ वो तन्हाई किस काम की। ϒ जहाँ किसी की याद ना आये। वो तन्हाई किस काम की। बिगड़े रिश्ते ना बने वो- खुदाई किस काम की। बेशक हमें अपनी मंज़िल तक- बढ़ना है, पहुचना है अकेले ही। पर जहाँ से अपने ना दिखाई दे वो- ऊंचाई किस काम की। ¤~≈~¤ नसीहतें और दुआएं …