kmsraj51.com
सच्ची मानवता - संवेदनशीलता। ⋆ KMSRAJ51-Always Positive Thinker
Kmsraj51 की कलम से….. ϒ सच्ची मानवता – संवेदनशीलता। ϒ प्यारे दोस्तों – एक Postman ने घर के दरवाजे पर दस्तक देते हुए कहा, “चिट्ठी ले लिजिये”। अंदर से एक बालिका की आवाज़ आई, “आ रही हूँ”। लेकिन तीन से चार मिनट तक काेई न आया ताे Postman ने फिर कहा, “अरे भाई! घर में काेई है क्या, अपनी चिट्ठी …