kmsraj51.com
सुलगती हवा में...। ⋆ KMSRAJ51-Always Positive Thinker
Kmsraj51 की कलम से….. ϒ सुलगती हवा में…। ϒ ⇒ कुछ कड़वी सच्ची बातें, कुछ सुझाव। Simmering in the air ? Some bitter truths, some suggestions. 🙂 सुलगती हवा में…। गर्म झांझ से झंखाड़ बन गयी लताएं। विदा हुए महावर में भीगें मधुमास। मार्च में जो दहके थे गेरूए “पलाश” । बदरंग जुदा हो चुके टहनियों से उदास आज। गर्म लपट …