kmsraj51.com
आपसे मिलकर हमें भी मुस्कुराना आ गया। ⋆ KMSRAJ51-Always Positive Thinker
Kmsraj51 की कलम से….. ϒ आपसे मिलकर हमें भी मुस्कुराना आ गया। ϒ (सादर समीक्षार्थ प्रस्तुत है आदरणीय गुरुदेव इस्लाह की गुजारिश के साथ) आपसे मिल कर हमें भी मुस्कुराना आ गया। मर नहीं सकता था फिर भी जहर खाना आ गया। प्यार का किस्सा कभी लोगों से सुनता था यहां। आज करके इश्क खुद को आजमाना आ …