kmsraj51.com
तू बढ़ता चल इंसान। ⋆ KMSRAJ51-Always Positive Thinker
Kmsraj51 की कलम से….. ϒ तू बढ़ता चल इंसान। ϒ गमो का समंदर है। उदासी का आलम। पार तूझे जाना है। रास्ता तुझे बनाना है। तू बढ़ता चल इंसान। तुझे रास्ता दिखायेगा- इक दिन भगवान। जो तू रुका राह में। फंस जायेगा भंवर मे। गमो के समंदर मे। निकल ना पायेगा तूँ- भंवर से कभी। रास्ता नज़र ना …