kmsraj51.com
ऐसे वक़्त के सिलसिले मिले। ⋆ KMSRAJ51-Always Positive Thinker
Kmsraj51 की कलम से….. ϒ ऐसे वक़्त के सिलसिले मिले। ϒ बचपन से बुढ़ापे तक – गरीबी से अमीरी तक। ऐसे वक़्त के – सिलसिले मिले। अनाथाश्रम में बच्चे – गरीबों के दिखे। वृद्धाश्रम में बुज़ुर्ग – अमीरों के मिले। ***** हौसले का कोई पर्दा नहीं होता। कड़े परिश्रम का कोई विकल्प नहीं होता। दिल मे अगर जज्बा …