kmsraj51.com
"अलक" सृष्टि उत्थान है माँ। ⋆ KMSRAJ51-Always Positive Thinker
Kmsraj51 की कलम से….. ϒ “अलक” सृष्टि उत्थान है माँ। ϒ MAA ममता की रसधार है माँ। बच्चे का अविरल प्यार है माँ। हर कण- कण में, हर घट-घट में- वसुधा की झंकार है माँ॥ तरु के पल्लव सी जान है माँ। दिनकर के दिव्य की मान है माँ। दामिनी के दामन का अम्बर- अम्बर का एक …