kmsraj51.com
साहित्य का सहज अर्थ..... ⋆ KMSRAJ51-Always Positive Thinker
Kmsraj51 की कलम से….. मेरे कुछ आंतरिक शाब्दिक विचार। – रश्मि प्रभा… साहित्य का सहज अर्थ है अपनी सभ्यता-संस्कृति,अपने परिवेश को अपने शब्दों में अपने दृष्टिकोण के साथ पाठकों, श्रोताओं के मध्य प्रस्तुत करना . पर यदि दृष्टिकोण,शब्द कृत्रिम आधुनिकता या आवेश से बाधित हो तो उसे साहित्य का दर्जा नहीं दे सकते। साहित्य, जो …