kavitasangrahonline.com
देवों की महिमा
देवों की महिमा जान सकते नहीं, प्रभु की लीला पहचान सकते नहीं, दुर्लभ कार्य भी यूंही नहीं कर जाते, खुद को भी यूंही संसार में फंसा नहीं पाते, खोजते जिसे दर बदर वह यहीं खुद में छिपा, खंगाल लो जब खुद को…