kavitasangrahonline.com
मत करना
मैं घुटने टेक दूँ,इतना कभी मजबूर मत करना खुदाया थक गई हूं,पर थकन से चूर मत करना मुझे मालूम है मैं अब किसी की हो नही सकती, तुम्हारा साथ गर माँगूँ तो तुम मंजूर मत करना यहां की हूँ,वहां की हूँ,खुदा जा…