jazbat.com
shayari – जुदाई में दर्द सहने की सजा सीख ली
शायरी जुदाई में दर्द सहने की सजा सीख ली तेरी मोहब्बत में हमने वफा सीख ली रिश्तों को जीकर हमने इस दुनिया में ठोकरें खाकर जीने की अदा सीख ली…