jazbat.com
गम के तूफानों में डूबा, इश्क का है साहिल कहां
गम के तूफानों में डूबा, इश्क का है साहिल कहां वो तो है सागर सा गहरा, मैं उसके काबिल कहां खेलता रहता हूं अक्सर ख्वाहिश के खिलौनों से टूटता है जब खिलौना, जोड़ना फिर हासिल कहां…