jazbat.com
ना सीख तू ये दिलबर, मेरी राह तू भी चुन ले – शायरी फोटो
जब चाहे जहां चल दे, जब चाहे जहां रूक जा पिंजरे से जो बाहर हो, जब चाहे जहां उड़ ले दुनिया तो सिखाएगी पंखो को कतरना ही ना सीख तू ये दिलबर, मेरी राह तू भी चुन ले…