jazbat.com
इमेज शायरी – खुशनसीब हूं कि तेरी मोहब्बत मिल गई
दिल को कभी देखा नहीं मुझमें किसी ने मगर अपनों से मुझको नफरत मिल गई जीते हैं तो तुमको दुआ देते हैं दिलबर खुशनसीब हूं कि तेरी मोहब्बत मिल गई. इमेज शायरी…