jazbat.com
फोटो शायरी l आंसू पीकर ही अपनी प्यास बुझा लेते हैं
जख्म खाकर ही अपनी भूख मिटा लेते हैं आंसू पीकर ही अपनी प्यास बुझा लेते हैं जब चलते हैं खुदगर्ज दुनिया की भीड़ में राहों पे अक्सर खुद को तन्हा बना लेते हैं…