jazbat.com
शायरी फोटो – भूल गया था जो मंजर, वो जमाना याद आया
शायरी फोटो भूल गया था जो मंजर, वो जमाना याद आया मुद्दतों बाद दिखी तुम, वो फसाना याद आया नए शहर की गलियों में खुशी खोज ली तुमने पुराने शहर की गलियों का वो रोना याद आया…