jazbat.com
शायरी – अब बचा क्या है जो तुम लेने आई हो
शायरी अब बचा क्या है जो तुम लेने आई हो जानेजां तुम बहुत देर से अब आई हो प्यार में मिटना तो आशिक की किस्मत में है कैसे कह दूं मैं कि तुम बड़ी हरजाई हो…