jazbat.com
शायरी – मैंने कुछ इस तरह से खुद को संभाला है
शायरी मैंने कुछ इस तरह से खुद को संभाला है तुझे भुलाने को दुनिया का भरम पाला है अब किसी से मुहब्बत मैं नहीं कर पाता इसी सांचे में एक बेवफा ने मुझे ढाला है…