jazbat.com
शायरी – मौत यूं भी तेरे हाथों लिखी है जालिम | Real love stories
हिंदी शायरी जानेजां हूं मैं अब तेरा गुनहगार सही ले तू खंजर और कर दे आर-पार सही मौत यूं भी तेरे हाथों लिखी है जालिम जो लिखी है उसे तू पढ़ ले एक बार सही…