jazbat.com
शायरी – गम से घिरे इंसान को यूं छोड़ देता है जहान
हिंदी शायरी वो जानेवाला चला गया, मुड़ के कभी देखा नहीं एक भीड़ देखती रही, किसी ने उसे रोका नहीं गम से घिरे इंसान को यूं छोड़ देता है जहान तन्हा ही वो मरता रहा और तूने भी टोका नहीं…