jazbat.com
शायरी – तेरे लब की दिलकश परेशानी भी देखी
पिंजरे में बुलबुल की जिंदगानी भी देखी कांटों में एक गुल की जवानी भी देखी हर पल दर्द का एक नया मोड़ लेती मुहब्बत की कमसिन कहानी भी देखी…