jazbat.com
शायरी – राह पे जब तू साथ न आया
शायरी तेरा दामन मेरे हाथ न आया तुझपे भी कोई दाग न आया पीछे मुड़के अब क्या देखूं राह पे जब तू साथ न आया…